Type Here to Get Search Results !

yaddasht badhane ki homeopathic medicine | याददाश्त बढ़ाने की दवा

0

 yaddasht badhane ki homeopathic medicine

याददाश्त कम होना कमजोर स्मरण शक्ति आजकर प्रायः युवा लोगों में देखी जा सकती है। बुढ़ापे में भी इसकी आम शिकायत रहती थी परंतु अब तो युवाओ में भी यह कमजोरी देखने को मिलने लगी है। 

अत्यधिक चिंता या भय से ग्रस्त होने और क्रोध या शोक से प्रभावित होने से अत्यधिक पढ़ने से भी स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है, तो चलिए अब जानते है कि याददाश्त ठीक करने के घरेलू नुस्के क्या क्या है। 

yaddasht badhane ki homeopathic medicine | याददाश्त बढ़ाने की दवा
yaddasht badhane ki homeopathic medicine | याददाश्त बढ़ाने की दवा

yaddasht badhane ki homeopathic medicine

  1. पिस्ता तथा तिल के लड्डू खाने से याददाश्त बढ़ती है।
  2. गेहूँ रोप रस पीने से याददाश्त बढ़ती है।
  3. सौंफ का पाउडर बनाकर शहद में मिलाकर चाटने से याददाश्त् बढ़ती है।
  4. पीपल के 4 से 5 फलों का चूर्ण बनाये और इसे 1 चम्मच चूर्ण को सुबह गर्म पानी के साथ ले।
  5. पीपल के पेड़ की छाल का चूर्ण शहद के साथ चाटे।
  6. खरबूजे की मिगी को घी में भूनकर चबा चबाकर खाने से याददाश्त बढ़ती है।
  7. गाय के दूध में 8 से 10 खजूर उबालकर पीने से स्मरण शक्ति बढ़ती है।
  8. आम का रस और तुलसी के पत्तों और अदरक का रस इस सबको बराबर मात्र में लेकर शहद के साथ उपयोग में लो।
  9. गाय के दूध में मुलहठी का 1 चम्मच चूर्ण डालकर पीने से याददाश्त तेज होगी।
  10. रोजाना सुबह गाय के दूध के साथ 1 आँवले का मुरब्बा लेने से स्मरण शक्ति तेज होगी।
  11. शंख पुष्पी को पीसकर चूर्ण बनाये और 250 ग्राम दूध में आधा चम्मच शंख पुष्पी और 1 चम्मच शहद मिलाकर सुबह लेने से लाभ होगा।
  12. आठ दस बादाम की मिगी रात्रि में पानी में भिगोयें तथा सुबह इनके छिलके उतारकर अच्छी तरह पीसें ले और 250 ग्राम ग्राम देशी गाय के गर्म दूध में इसे मिला कर दूध ठंडा होने पर ही शहद मिलाये और इसके साथ दूध में 1 चम्मच देशी गाय का धी भी मिलाये और सेवन करे।
  13. संख पुष्पी और आँवला और गिलोय और जटामासी  और ब्राहा इन सबका बराबर मात्रा मे चूर्ण बनाकर पीस लेना है और सुबह और शाम आधा चम्मच सादे पानी के साथ लेने से फायदा होगा।

Tags

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Top Post Ad

Below Post Ad