Type Here to Get Search Results !

High Blood Pressure ko turant kaise kam kare

0

 high bp symptoms in hindi

उच्च रक्तचाप ह्रदय और गुर्दे और साथ ही साथ रक्त संचालन प्रणाली की गड़बड़ी के कारण होता है। यह रोग किसी भी व्यक्ति को हो सकता है। यह चुपके चुपके शरीर के भीतर आता है और कई तरह की बीमारियों को साथ में ले आता है। कई वर्षों तक तो इस बीमारी का आपको कानो कान खबर नही होगी परंतु जब पूर्ण रूप से इसका भयानक प्रकोप होता है, तो तभी आपको पता चलता है इस ह्रदय रोग की बीमारी के बारे में। 

जो लोग क्रोध भय दुख आदि भावनाओं के प्रति अधिक संवेदनशील होते है उन्हे इस ह्रदय की बीमारी अधिक होती है। जो लोग परिश्रम कम करते है तथा अधिक तनाव में जीते है जैसे शराब धूम्रपात यह सब अधिक करते है और उन्हें भी यह बीमारी हो ही जाती है। 

इसमें सिर में दर्द होना तथा चक्कर आना दिल की धड़कन का तेज हो जाना, आलस्य आना, जी का घबरान, काम में मन नही लगना, पाचन क्षमत का कम होना साथ ही साथ आँखों के सामने अंधेरा छा जाना और नींद भी न आना इस प्रकार के लक्षण ह्रदय रोग के होते है। और इसे सही करने के घरेलू उपाय हम आपको नीचे बता रहे है, यदि आप इसका प्रयोग करते है तो आपकी यह बीमारी जड़ से खत्म हो जाएगी। 

High Blood Pressure ko turant kaise kam kare
High Blood Pressure ko turant kaise kam kare


Blood Pressure normal karne ka tarika in Hindi

  1. शङद में नींबू का रस मिलाके सुबह शाम चाटने से उच्च रक्तचाप कम होने लगता है।
  2. मुसम्बी के रस के साथ उपवास हो तो भी बहुत अधिक आराम मिलता है।
  3. कच्चे लहसुन की एक दो कली पीसकर प्रातः सुबह चाटने से उच्च रक्तचाप की परेशानी दूर हो जाएगी।
  4. कोमल नीम की पत्ती चबाने से या फिर उसके रस को पीने से उच्चरक्तचाप में नियन्त्रण आयेगा।
  5. नियमित पपीता खाने  और ताजे मीठे सेब खाने से रक्तचाप नीचे आता है, दिन में कुछ भी न लें।
  6. उच्च रक्तचाप के रोगी को साधारण नमक की जगह सेंघा नमक का उपयोग लाभकारी माना जाता है।
  7. पुदीने की पत्तियाँ और सेंधा नमक और किसमिस और कालीमिर्च की चटनी बनाके खाने से लाभ होगा।
  8. सफेद प्याज के रस को शहद मे मिलाकर लेने से लाभ मिलेगा।
  9. उबले हुए आलू सेंधा नमक के साथ खाने से अराम मिलेगा।
  10. चुकन्दर सन्तरा और गाजर और पपीते का रस निकाल कर पीने से लाभ होगा।
  11. सुबह देशी गाय का गौमूत्र पीने से उच्चरक्त चाप कम होता है।
  12. रोजाना रात मे सोने से पहले गरम पानी में त्रिफला चूर्ण लेने से यह बीमारी जड़ से समाप्त हो जाती है।
  13. तरबूज का रस सेंधा नमक के साथ लेने से काफी आराम मिलता है।
  14. आँवले का रस सबसे अधिक लाभकारी होता है, आँवले का मुरब्बा भी आप खा सकते है, और साथ ही साथ अपने भोजन में मूली अवश्य खाये।
  15. सौंफ मिश्री जीरा इसको समान मात्रा में चूर्ण बना कर रोजाना सुहर शाम पानी के साथ लेने से आरामा मिलेगा।
  16. सर्पगन्ध बूटी की जड़ का पावडर बनाकर दिन में पानी के साथ तीन बार लो, यह चमत्कारी औषधि है।
  17. गरम पानी में नींबू निचोड़कर और उसमें शहद मिलाकर गुनगुने पानी में लगातार 15 दिन तक पीने से उच्च रक्तचाप की बीमारी सही हो जाएगी।


Tags

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Top Post Ad

Below Post Ad