Type Here to Get Search Results !

pneumonia in hindi | निमोनिया के लक्षण और उपचार

0

pneumonia in hindi

न्युमोनिया जब फेफड़ों में लगातार दर्द रहने लगे तो न्युमोनिया कहलाता है। यह मुख्यरूप से ठंग लग जाने के कारण तथा फेफड़ों में सूजन आ जाने के कारण होता है। सर्दी, गर्मी में परिवर्तन एका एक पसीना आना, जीवाणुओं द्वारा संक्रमण आदि के कारण हो जाता है।

इस बीमारी में फेफड़ों में कफ बढ़ जाता है तथा छाती में तेज दर्द होना शुरू हो जाता है। रोगी को बेहोशी आने लगती है तथा श्वास लेने में कष्ट होने लग जाता है और खाँसी की बीमारी रहती है, तो चिलए अब जानते है निमोनिया के कुछ घरेलू नुस्खे और उपचार।
pneumonia in hindi, निमोनिया के लक्षण
pneumonia in hindi | निमोनिया के लक्षण

pneumonia in hindi

  1. हल्दी की गांठ को बालू में भूनकर उसका चूर्ण बना लो तथा दिन में दो बार गर्म पानी के साथ सेवन करों।
  2. गेहूँ की जगह जौं की रोटी और गर्म जल लगातार पिलाने से न्युमोनिया से काफी राहत मिलेगी।
  3. अदरक और तुलसी का रस बराबर मात्र में मिकालकर शहद के साथ चाटने से काफी आराम मिलेगा।
  4. यदि बच्चों को न्युमोनिया हो जाए तो सरसों के तेल में तारपीन का तेल मिलाकर पसलियों की मालिश करें।
  5. बच्चो के लिए 1 चुटकी हींग पानी में घोलकर पिलाने से जमा हुआ कफ बाहर निकलता है।
  6. मुनक्के के बीच निकालकर उसमें रत्ती भर हींग भरकर लगातार खाने से लाभ मिलता है।
  7. तारपीन का तेल कपूर और सरसों का तेल क्रमशः 2, 1 ,1 में मिलाकर रोगी की छाती पर मलने से बीमारी से आराम मिलेगा।
  8. चार-पाँच काली मिर्च और 1 रत्ती हींग और 2 लॉग और चार पाँच तुलसी के पत्तों का रस इस सबको शहद के साथ मिलाकर दिन में दो बार सेवन करे।
  9. घी और मिश्री और पिपल और दूध इस सबका काढ़ा बनाकर पीए।
  10. गिलोय का सत्त और पिपल का चूर्ण शहद में मिलाकर पीने से न्युमोनिया से लाभ मिलेगा।

👉please visit- 70 पेट दर्द के घरेलू उपाय-pet dard ke gharelu upay

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad