Type Here to Get Search Results !

khansi ke liye gharelu upay | पुरानी खांसी का घरेलू उपचार

0

khansi ke liye gharelu upay

श्वसन संस्थान के रोग हमारे शरीर में सबसे महत्वपू्र्ण हिस्सा होता है। हमारे साँस लेने से लेकर और साँस निकालने तक की प्रक्रिया में ढेर सारे अंगों का उपयोग होता है, नाक, गला, ह्रदय, पसलियाँ, फेफड़ें, डायफ्राम आदि अंगो का उपयोग होता है। 

यदि हमें पर्याप्त मात्रा में शुद्ध ऑक्सीजन ना मिले तो इन सभी अंगों में बीमारियां उत्पन्न होने लग जाती है। अत्यधिक शराब पीने, चिंता करने, गुटखा खाने, तम्बाकू खाने, दूषित विषैले भोज्य पदार्थों का सेवन करना और अत्यधिक धुम्रपान करने से भी यह अंग खराब होते चले जाते है। 

इसके अंतर्गत खाँसी, सर्दी, दमा, टॉन्सिल्स, जुकाम, श्वास रोगा आदि सब हो जाते है। इन सब बीमारियों के घऱेलू नुस्खे नीचे दिया जा रहे है। 

खाँसी तीन प्रकार की होती है। सुखी खाँसी, काली खाँसी, और कफ खाँफी। खाँसी आने पर मुँह से खों खों की आवाज आती है। सूखी खाँसी में रोगी खाँसने से बेहाल हो जाता है। 

लेकिन बलगम वाली खाँसी में कफ बाहर निकलता है। यहाँ जो घरेलू नुस्खे दिये जा रहे है वह इस तीन प्रकार की खाँसी के लिए दिए जा रहे है।

पुरानी खांसी का घरेलू उपचार,  khansi ke liye gharelu upay
पुरानी खांसी का घरेलू उपचार-khansi ke liye gharelu upay

khansi ke liye gharelu upay

  1. अदरक के टुकड़ों को नमक लगाकर चूसते रहने से खाँसी में आराम मिलता है।
  2. छोटी पिपली को घिसकर उसमें शहद मिलाकर चाटने से भी आराम मिलता है।
  3. अदरक और पान के पत्तों का रस निकालकर शहद में मिलाकर चाटने से खाँसी में आराम मिलता है।
  4. अजवायन का चूर्ण हल्के गर्म पानी के साथ लेने से खाँसी से राहत मिलती है।
  5. गिलोय के सत को शहद मे मिलाकर चाटने से आराम मिलता है।
  6. लौंग को पीसकर आग पर भून लो तथा सहद में मिलाकर चाटें।
  7. काली खाँसी में दो पत्ती शोधित हींग चाटने पर आराम मिलता है।
  8. पीपल के नर्म पत्ते और मिश्री और मुलहठी इस सबको 20-20 ग्राम मिलाकर पाउडर बना लेना है और आधा आधा चम्मच दिन में 2 से 3 बार ग्रहण करना है।
  9. फिटकरी का पाउडर बनाकर उसे भून लें और मिश्री मिलाकर दिन में दो बार खाये।
  10. शहद में थोड़ा मेंहदी के पत्तों का रस मिलाकर चाटने से खाँसी में लाभ होता है।
  11. 7 से 8 कालीमिर्च का पाउडर 2 चम्मच शहद में मिलाकर दिन में 3 से 4 बार चाटे।
  12. 20 ग्राम मैथी के दानों को 1 गिलास पानी में उबालें ¼ भाग पानी रह जाने पर दो तीन चम्मच शहद मिलकर पीए।
    काली मिर्च और इलायची और अजवायन यह तीनों को बराबर मात्रा में 10 ग्राम 10 ग्राम मिलाकर चूर्ण बनाए और शहद के साथ सुबह और दोपहर शाम में सेवन करे राहत मिलेगी।
  13. काली मिर्च और इलायची और अजवायन यह तीनों को बराबर मात्रा में 10 ग्राम 10 ग्राम मिलाकर चूर्ण बनाए और शहद के साथ सुबह और दोपहर शाम में सेवन करे राहत मिलेगी।
  14. 3 से 4 लौंग तवे पर भूनें और पीसकर शहद के साथ चाटे खाँसी ठीक हो जाएगी।
  15. एक चम्मच देशी गाय का घी थोड़ा सा गुड़ मिलाकर खाने से खाँसी चली जाती है।
  16. थोड़ी सी हल्दी और 1 चुटकी नमक सादे पानी में मिलाकर पीए खाँसी ठीक हो जाएगी।
  17. बबूल की छाल का काढ़ा पीने से खाँसी से लाभ होगा।
  18. अडूकसा और तुलसी के पत्तों का रस समान मात्रा में लेकर शहद के साथ चाटे।
  19. दो बादाम पानी में फुलाकर छिलके उतारकर पानी में घीसे फिर शहद मिलाकर सेवन करें।
  20. मुलहठी और अदरक का रस और सौंठ यह सबको 1-1 चम्मच लेकर शहद के साथ सेवन करने से खाँसी से राहत मिलेगी।

Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad