Type Here to Get Search Results !

khujli ki ayurvedic dawa- दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा

0

khujli ki ayurvedic dawa


khujli ki ayurvedic dawa- दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा
khujli ki ayurvedic dawa- दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा

khujli ki ayurvedic dawa- दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा

खाज खुजली एक संक्रामक रोग है, जिसके कारण त्वचा पर छोटी छोटी फुन्सियाँ निकलने  लग जाती है औऱ उनमें से पानी भी आने लग जाता है, यह शरीर के किसी भी हिस्से में हो जाती है। कभी कभी पेट साफ न होने के कारण, या कब्ज रहने से तथा खून में अशुद्धि हेने के कारण भी यह खुजली पैदा हो जाती है। 

एक दूसरे के कपड़े पहनने से भी यह रोग बढ़ता है। खुजली की तकलीफ रात के समय अधिक हो जाती है। इसकी घरेलू चिकित्सा निम्नलिखित ढंग से घरेलू उपचार से ठीक की जा सकती है तो चलिए अब जानते है कि खाज खुजली को सही करने के कुछ घरेलू नुस्के।

  1. गाय के घी में कुछ लहसुन मिलाकर गरम करें और उसकी मालिश करे खुजली वाले स्थान पर ऐसा करने पर खुजली से राहत मिलेगी।
  2. नारियल के तेल थोड़ा सा कपूर मिलाकर गरम करें औऱ खुजली वाले स्थान पर लगायें।
  3. सरसों के तेल मे हरी मिर्च को जलाकर उस तेल की मालिश करे।
  4. नींबू के रस में पके हुए केले को मसलकर खुजली वाले स्थान पर लगाने से आराम होगा।
  5. भूने हुए सुहागे को पानी में मिलाकर लगाने से खुजली वाले स्थान से लाभ होगा।
  6. सरसों के तेल में लहसुन को गरम करके तथा उसमें थोड़ी से हल्दी मिलाकर तेल ठंडा होने पर मालिश करने से राहत मिलेगी।
  7. अजवायन का तेल खाज खुजली पर लगाने से भी काफी आराम मिलेगा।
  8. नारियल के तेल में आँवले के तेल की गुठली की राख मिलाकर खाज खुजली पर लगाने से आराम मिलेगा।
  9. सरसों के तेल में थोड़ा सा तेजपत्ता व थोड़ा सा बांवची मिलाकर मरहम की तरह खाज खुजली पर लगायें राहत मिलेगी।
  10. सरसों के तेल में नीम की छाल तथा चाल मोगरा दोनो को पकायें और उससे मालिश करे जल्द राहत मिलेगी।
  11. देशी गाय के गोबर गोमूत्र को खाज खुजली पर लेप कने से बहुत ही जल्दी राहत मिलगी।
  12. गाय के घी में आँवला और गंधक और कपूर तथा नीला थोथा बराबर मात्रा में मिलाकर खाज खुजली पर लगाने से बहुत जल्दी राहत मिलेगी।
  13. करंज नीम और निरंगुडी तीनों की छाल को पीसकर पानी में मिलाके खाज खुजली के स्थान पर लगाने से बहुत अधिक फायदा होगा।
  14. नाम की छाल औऱ त्रिफला का चूर्ण तथा उसवा और कुटकी तथा गोरख मुंडी समान मात्रा में लेकर पानी में भिगो दे और उसे आग पर पकाये और उसकी भाप द्वारा अर्क तैयर करे इस अर्क को रूई के फाहे से खाज खुजली वाले स्थान पर लगाए।
  15. दूध, सेंधा नमक, हरड, वन तुलसी तथा चकवड इन सबको समान मात्रा में लेकर पीस लेना है और खुजली वाले स्थान पर लगाना है।
  16. करंज, मिरगुंडी तथा नीम तीनो की छाल को पीसकर पानी में मिलकर खाज खुजली वाले स्थान पर लगाने से राहत मिलेगी।
  17. तिल के तेल में हल्दी को मिलाकर लगान से चर्म रोग नही होता ।
  18. बुथएं के रस में तिल मिलकर गर्म करे जब उसका पानी जल जाए तो खाज खुजली पर लगाये अराम मिलेगा।
  19. दो चम्मच नारियल के तेल में एक चम्मच टमाटर का रस मिलाकर मालिश करने के बाद गर्म पानी से स्नान करने से खुजली में राहत मिलगी।
  20. नील थोथा मिट्टी का तेल और नींबू का रस मिलाकर लगान से खाज खुजली से राहत मिलेगी।
  21. सूखे सिघांडे के पावडर को नींबू के रस में मिलकर लगाने से चर्म रोगों में आराम मिलेगा।

 

daad khaj khujli ka pakka ilaj

दाद छाजन का रोग अपच होने, लू लगने, खून में विकार रहने और साबुव चूने का अत्यधिक प्रयोग करने से तथा माँ के दूध में खराबी होने से तथा स्त्रियों में मासिक गर्भ की गड़बड़ियों के कारण होता है। 

यह रोग हाथ पैर, मुँह, कोहनी, गर्दन, पेट आदि जगह पर कही कही पर हो जाता है। लाल लाल फुन्सीयां शरीर पर ही हो जाती है, कई बार चकत्ते भी हो जाते है। 

कभी कभी यह चकत्ते फैलने भी शुरू हो जाते है। तो चलिए अब जानते है कि दाद छाजन को ठीक करने के घरेलू नुस्के क्या क्या है।

  1. नींबू के रस में सुहागे को मिलाकर लगाने से दाद समाप्त हो जाती है।
  2. सबसे पहले अत्यधिक मिर्च मसाले, तेल, मिठाई, खट्टी चीजे, अचार आदि खाना आपको बंद करना पड़ेगा, क्योकि यह पदार्थ इस रोग को बढ़ाते है पेट साफ रखे और कब्ज न होने दे।
  3. नींबू का छिलका दाद पर लगाने से काफी आराम मिलेगा।
  4. भूना हुआ सुहागा और भुनी हुई फिटकरी समान मात्रा में लेकर चूर्ण बनाए और दाद पर लगाए जल्द राहत मिलेगी।
  5. दाद पर पहले शुद्ध देशी गाय का घी मलें औऱ उस पर सुखा हुआ चुना पाउडर बुरकें वाला लगाए।
  6. नींबू और तुलसी के पत्तों का रस बराबर मात्रा में मिलकर दाद पर लगाने से राहत मिलेगी।
  7. तुलसी के पत्तो का रस उसमें थोड़ा नमक मिलकर सुबह शाम लगाये राहत मिलेगी।
  8. बेहया के पौधे दाद के उपर लगाने से जल्दी ठीक हो जाएगी।
  9. दूब और को पीसकर लेप बनाए और दाद पर लगाए।
  10. सुबह उठते ही अपना  बासी शूक दाद पर लगाने से दाद नष्ट हो जाएगा।
  11. मिट्टी के तेल में गंधक घिसकर लगाने से लाभ होगा।
  12. मेहंदी की छाल का काढ़ा शहद के साथ पीने से काफी लाभ होगा।
  13. हल्दी को पानी में घिसकर लेप बना पर छाजन पर लगाने से लाभ होगा।
  14. पपीते का कच्चा दूध और आक का दूध शहद में मिलकर लगाने से दाद में काफी आराम मिलता है।
  15. सरसो के तेल में गेहूँ को भूनकर उसकी राख तथा हल्दी पाउडर मिलकर लगाने से दाद में आराम मिलता है।
  16. जाड़े में नमक के पानी से स्नान करने से दाद छाजन समाप्त हो जाएगा।
  17. काजू के छिलके का तेल लगाने से दाद छाजन में राहन मिलेगी।
  18. दाद को कपड़े से रगड़कर साफ करें और उसके ऊपर आक का दूध लगाओं इससे दाद से राहत मिलेगी।

Tags

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Top Post Ad

Below Post Ad